एकाउंटिंग किसे कहते हैं?

By | June 22, 2021

एकाउंटिंग किसे कहते हैं? – दोस्तों कैसे हैं आप सभी? आशा करता हूं आप सभी स्वस्थ होंगे। आज इस आर्टिकल में हम आपको एक बहुत इंपोर्टेंट तथा इंटरेस्टिंग टॉपिक पर जानकारी देने जा रहे हैं। आज इस आर्टिकल में हम आपको एकाउंटिंग के बारे में जानकारी देंगे। आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे अकाउंटिंग किसे कहते हैं? दोस्तों अगर आप अकाउंटिंग के बारे में जानना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आखिरी तक पूरा पढ़िए। इस आर्टिकल में आपको एकाउंटिंग से जुड़ी संपूर्ण जानकारी विस्तार से बताई गई है।

दोस्तों आप सभी ने एकाउंटिंग शब्द के बारे में जरूर सुना होगा अक्सर किसी बड़ी कंपनी या ऑफिस में अकाउंटिंग के पद पर ढेर सारी नौकरियां निकाली जाती है। आप सभी ने फोन या भर्ती के विज्ञापन में जरूर देखा होगा कि काउंटिंग से जुड़ी ढेर सारी नौकरी प्रति महीने या प्रतिवर्ष निकलती है।

आज के समय में अगर आपके पास थोड़ा सा कंप्यूटर का नॉलेज है और आपने एकाउंटिंग का कोर्स किया है तो आप बेरोजगार नहीं रह सकते हैं। आप किसी भी कंपनी का ऑफिस में एकाउंटिंग का काम कर सकते हैं। आज कोई ऐसा ऑफिस या कोई ऐसी कंपनी नहीं है जहां पर एक अच्छे अकाउंटेंट की आवश्यकता ना पड़ती हो।

Read More – कंप्यूटर में टास्कबार ऑटोमेटिक कैसे हाइड करें?

आज आप जितने भी बड़े बड़े हॉस्पिटल शोरूम shopping mall ऑफिस कंपनी रेस्टोरेंट्स देखेंगे हर जगह आपको एक अकाउंटेंट देखने को मिल जाएगा। अगर आप भी चाहे तो आकाउंटिंग के क्षेत्र में नौकरी करके एक सुंदर भविष्य बना सकते हैं। लेकिन यह सब करने के लिए आपको पता होना चाहिए अकाउंटिंग किसे कहते हैं?

दोस्तों अगर आप भी उन लोगों में से एक हैं जिन्हें नहीं पता कि अकाउंटिंग किसे कहते हैं? तो आपको टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। आज इस आर्टिकल में हम आपको अकाउंटेंट से जुड़ी संपूर्ण जानकारी विस्तार से देंगे। इसे पढ़ने के बाद आपको पता चल जाएगा अकाउंटिंग किसे कहते हैं?

एकाउंटिंग किसे कहते हैं?

आज से कुछ वर्षों पहले एक ऐसा समय था जब बहुत कम दुकानें अथवा ऑफिस हुआ करते थे। उस समय मुद्रा का प्रचलन इतना अधिक नहीं था। पुराने समय में लोग जब दुकान से कोई समान उधार खरीदते थे तो उसे एक कॉपी में नोट कर लिया जाता था। यह सभी काम मुनीम के द्वारा किया जाता था।

पुराने समय में हर एक दुकान तथा ऑफिस पर एक मुनीम रहता था। इस मुनीम का मुख्य काम उस दुकान या ऑफिस से ली गई उधार समान की एंट्री रखना तथा उस दुकान में आय एवं व्यय का पूरा रिकॉर्ड रखना था। इसके बदले में मुनीम को तनख्वाह भी दी जाती थी।

इसके बाद धीरे-धीरे करके नई नई टेक्नोलॉजी डेवलप हो ती चली गई। बहीखाते का संपूर्ण काम कंप्यूटर पर किया जाने लगा। डिजिटल रूप में किसी कंपनी या ऑफिस के आय एवं व्यय का रिकॉर्ड रख पाना मुनीम के लिए थोड़ा मुश्किल था। इसके लिए एक योग्य एवं कुशल व्यक्ति की तलाश की गई। इसे हम अकाउंटेंट के नाम से जानते हैं।

एक अकाउंटेंट का मुख्य काम उसे कंपनी या ऑफिस में जितने भी धन से संबंधित रिकॉर्ड होते हैं उन्हें मेंटेन करना, किसको कितना रुपए देना है एवं किससे कितना रुपए लेना है इस बात की जानकारी रखना होता है। एक अकाउंटेंट की आवश्यकता हर कंपनी में होती है। बिना अकाउंटेंट के किसी भी कंपनी का वित्तीय काम नहीं हो सकता।

अकाउंटेंट कैसे बने?

आप हमें ऐसे बहुत से लोगों के मन में यह प्रश्न बार-बार आ रहा होगा कि क्या हम भी अकाउंटेंट बन सकते हैं? अगर आप जानना चाहते हैं कि अकाउंटेंट कैसे बने? तो आपकी जानकारी के लिए बता दें अकाउंटेंट बनना बहुत ज्यादा मुश्किल नहीं है। अकाउंटेंट बनने के लिए आपको एकाउंटिंग का कोर्स करना होगा। आज हमारे शहर में ढेर सारे इंस्टिट्यूट हैं जो हमें एकाउंटिंग का कोर्स सिखाते हैं। आप किसी भी इंस्टिट्यूट से 3 महीने 6 महीने या 1 साल का अकाउंटिंग कोर्स सीखकर डिप्लोमा सर्टिफिकेट प्राप्त कर सकते हैं। इसके बाद आप किसी भी कंपनी में अकाउंटेंट जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

निष्कर्ष

तो दोस्तों यह आज आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी। आज इस आर्टिकल में हमने आपको अकाउंटिंग के बारे में जानकारी दी। आज इस आर्टिकल में हमने आपको बताया अकाउंटिंग किसे कहते हैं? अकाउंटेंट कैसे बनें? आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। आर्टिकल को आखरी तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *